Translate

Tuesday, 26 March 2013

........वो बार बार धमकाए चले जाते हैं ...

होली आते ही पतिदेव एलान कर देते हैं
रंग चेहरे को खराब कर देते हैं  
हम न खोलेंगे दरवाज़ा न खेलेंगे फाग होली
वो बार बार धमकाए चले जाते हैं ...... 



न किसी  का फ़ोन उठाएंगे
न किसी को घर बुलायेंगे
किसी की बातो में न आयेंगे
बेमतलब ही भीगने न जाएँगे
वो बार बार धमकाए चले जाते हैं .
.....

इतने सालो के साथ का असर
कर देते हम धमकियाँ बेअसर
हाँ में हाँ मिलाते चले जाते हैं
कैसे भिगोये उन्हें हर बार
मंसूबे बनाये चले जाते हैं
वो बार बार धमकाए चले जाते हैं ...
...

देकर लालच मेवे वाली गुझिया का
मना लेते हैं हम मन अपने रसिया का
माथे पर इक छोटा सा तिलक लगायेंगे
रंग गीला नहीं बस सुखा  ही लगायेंगे
बस 
बार बार ये तसल्ली दिए जाते हैं 
वो बार बार धमकाए चले जाते हैं .....
 

टीका लगाने  का ढोंग करते जाते हैं
उन्हें अपने प्यार में रँगे चले जाते हैं
कसमें भूल वो हममें समाये जाते हैं
आँखों ही आँखों से वार किये जाते हैं
होली में पिया के संग यूँ जिया करते हैं
वो क्यों बार बार धमकाए चले जाते हैं ...





6 comments:

  1. होली प्रेम प्रतीक है, भावों का है मेल
    इसे समझिये न कभी, रंगों का बस खेल

    होली की शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  2. बहुत उम्दा अभिव्यक्ति ...........रश्मि जी

    ReplyDelete
  3. सभी पाठकों को हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच} परिवार की ओर से शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...
    --
    सादर...!
    ललित चाहार

    शिक्षक दिवस और हरियाणा ब्‍लागर्स के शुभारंभ पर आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि ब्लॉग लेखकों को एक मंच आपके लिए । कृपया पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा | यदि आप हरियाणा लेखक के है तो कॉमेंट्स या मेल में आपने ब्लॉग का यू.आर.एल. भेज ते समय लिखना ना भूलें ।

    चर्चा हम-भी-जिद-के-पक्के-है -- हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल चर्चा : अंक-002

    - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}
    - तकनीक शिक्षा हब
    - Tech Education HUB

    ReplyDelete
  4. आपको सपरिवार होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ .....!!
    http://savanxxx.blogspot.in

    ReplyDelete
  5. आपको सपरिवार होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ .....!!
    http://savanxxx.blogspot.in

    ReplyDelete